भटकने से बचने का तरीका ! How to avoid distractions.

भटकने से बचने का तरीका ! 

How to avoid distractions !


How to avoid distraction

Src:- Sadhguru

    मन का भटकाव से पश्चिम में नहीं करताजो अपना ध्यान भटका ना चाहते हैं, उनके लिए भटकने के लिए हर जगह सिर्फ पश्चिम में ही नहींऔर बस आज ही नहीं हजार साल पहले भी लोग भटक जाते थे मेरा यकीन कीजिएयह मत सोचें कि हजार साल पहले हर कोई एकाग्र और शानदार थानहीं वह उतना ही अच्छे या उतने ही बुरे थे जितने कि आप हैंवह भी छोटे ग्रुप में गपशप करते थेअब हम दुनिया भर में गजब कर रहे हैंतो ऐसी क्या चीज है जो मुझे करनी चाहिए ?





       एकाग्र होने के लिए या जो मिल रहा है उसे ग्रहण करने के लिए बहुत आसान हैखुद को याद दिलाई है कल सुबह जब आप जानते हैं तो चेक कीजिए अभी तक मैं जिंदा हूं ? क्योंकि हर दिन इस धरती पर 10 लाख से भी ज्यादा लोग मर जाते हैंआप कल सुबह जाग गए लाखों लोग कल सुबह नहीं जागे कल सुबह नहीं जागेंगे यकीन मानिएआप जाग गए ? बस करें आप अभी भी जिंदा है बहुत बढ़िया है आप अभी जीवित हैं कम से कम आप मुस्कुरा सकते हो मैं अभी जिंदा हूं.




    
    बस उन तीन चार पांच लोगों को भी चेक करें जो आपके जीवन में वाकई मायने रखते हैं चेक करें अब जीवित हैं क्योंकि अगर 10 लाख  लोग मर गए तो कम से कम एक करोड़ लोगों ने अपने किसी प्रिय जन को खो दिया हैतो वह सभी जो जो आपके लिए वाकई मायने रखते हैंआप जीवित हैं वह जीवित है बहुत बढ़िया आज बहुत जबरदस्त दिन हैइसे हल्के में मत लीजिए कोई मजाक नहीं है क्योंकि मैं आपको यह इसलिए याद दिला रहा हूंक्योंकि ज्यादातर लोग सोचते हैं



  
  दूसरे लोग मरते हैंमैं नहीं सिर्फ दूसरे लोग मरते हैं नहीं नहीं आप और मैं भी मरेंगेसद्गुरु में एक आध्यात्मिक सवाल पूछ रहा हूं और आप मुझे डरावनी चीजें याद दिला रहे हैंइसमें डरने को कुछ नहीं हैमौत एक ऐसी चीज हैजो हम सब के लिए है हमारे बारे में जो चीज ऐसी हैचाहे काले सफेद नीले पीले हो आप जिस तरह भी हो आदमी औरत या दूसरे से लिंक आप  चाहे जो कुछ हम सब के बीच जो एक चीज समान हैवह है




  हम 1 दिन मर जाएंगे मृत्यु की सार्वभौमिकता को देखेंजब आप खुद को याद दिलाते हैंकि आप नश्वर हैं सिर्फ तभी अपने अस्तित्व की भौतिकता से परे कुछ और जाने की चाहत एक सक्रिय प्रक्रिया बनती हैआप ग्रहण शील सिर्फ तभी बनेंगे जब आप जान जाते हैं कि यह शरीर जो आप धो रहे हैंयह मनोवैज्ञानिक नाटक जिससे आप गुजर रहे हैंअभी यह सब चल रहा हैलेकिन एक दिन यह खत्म हो जाए बहुत आसानी से खत्म हो जाएगाआपको इंतजार करना है देखिए मृत्यु को हासिल करने के लिए आपको कुछ नहीं करना है.



  
   बस इंतजार करना है अपने और दूसरों के लिए भी लोग कहते हैंसद्गुरु ये आदमी मेरा दुश्मन है और इसे में सहन नहीं कर सकतामें कहता हूं बस इंतजार कीजिएआपको कुछ नहीं करना है बस इंतजार कीजिए एक न एक दिन आपको छुटकारा मिल जाएगा या तो वह मरेगा या तो आपतो ऐसा करेंहर घंटे अभी 7:30 बजे हैं मैं अभी जिंदा हूंआज 6:30 से 7:30 बजे तक आप जानते हैं कितने लोग मर गए ? लेकिन अभी मैं उनमें से नहीं हूं



  तो अगर आप अपने नश्वर प्रकृति के प्रति लगातार सचेतन है तो आप अपने अस्तित्व के आध्यात्मिक आयाम के प्रति 100 फ़ीसदी जीवंत हो जाएंगेक्योंकि कहीं ना कहीं ऐसा नहीं कि बौद्धिक रूप से आप नहीं जानते लेकिन अपने अनुभव में आप अमर हैंक्योंकि जब मैं आपके खरीदे हुए जूतों की संख्या देखता हूंतो ऐसा लगता है कि आप 10000 साल तक जीने वाले हैं कपड़ों और जूतों की संख्या जब मैं उन्हें देखता हूं ऐसा लगता है




 कि तमाम लोग हजार या 10000 साल जीने का सोच रहे हैं नहीं नहीं नहीं यह जीवन बहुत छोटा हैअगर आप जानते हैं कि यह जीवन छोटा है और आप निश्चय ही नश्वर हैतो हम इसे योग से लंबा करने की कोशिश करेंगे हम इसे खींचने की और इसे थोड़ा और लंबा करने की कोशिश करेंगे लेकिन आप फिर भी मरेंगे अगर आप अपने जीवन के हर पल में इस बात के प्रति जागरूक हैशुरुआत में थोड़ा संघर्ष हो सकता है लेकिन फिर भी खुद को हर मिनट याद दिलाएकि मैं नशवर हूंकिसी दिन मैं मर जाऊंगा और यह आज भी हो सकता हैमृत्यु को लेकर सहज रही हैतब इस भौतिक प्रकृति से परे जो है उसे जानने के लालषा के अंदर फुट पड़ेगीएक बार  लालषा आ गई तो आप 100 फ़ीसदी ग्रहण सील हो जाएंगेहर उस चीज के प्रति जिसका मैं ठीक हूं - Sadhguru


0 Comments: